Our Blog / Press Releases

पहली नज़र में त्विशा मकवाना किसी भी आम बच्ची की तरह ही लगती है, लेकिन उसकी लाइफ का हर दिन खास है। तीन साल की त्विशा को जन्म से ही एलजीओए नाम की समस्या है। इसका मतलब है कि त्विशा के शरीर में एसोफैगस यानी मुंह से पेट को जोड़ने वाली नली अधूरी है। इस कारण वह कभी मुंह के जरिए खाना नहीं खा सकती।

त्विशा के लिए हर दिन एक नई चुनौती है। इस चुनौती में त्विशा को अपनी मां स्वीटी मकवाना का साथ मिलता है। सिडनी में रहने वाली स्वीटी एक सिंगल पैरंट हैं और त्विशा का जीवन बचाने के लिए हरसंभव कोशिश कर रही हैं। त्विशा के जन्म के पांच महीने बाद ही उनके पति ने उन्हें घर से निकाल दिया था क्योंकि वह उन्हें ऐसी बीमार बच्ची को जन्म देने का ‘दोषी’ मानते थे।

Read more at: http://navbharattimes.indiatimes.com/india/Twisha-Makwana-save-this-3-year-old-girls-life/articleshow/37692781.cms

Comments are closed.

DONATE NOW